Home >> Madhya Pradesh >> Bhopal City Bhaskar >> Bhopal City Bhaskar
    • Set as Default
     
     
    ग्लैमर    गीतकार एवं फिल्म निर्देशक गुलजार लंबे अरसे बाद कविताओं की नई किताब के ...  भोपाल आए तो यादों में बसे पुराने ठिकानों पर घूमे जावेद अख्तर   अद्भुत हैं उदयगिरी की बीस गुफाएं   डॉक्टर्स देख रहे मोबाइल यूज़ करने के खर्चे की लिमिट   एेसे में स्टूडेंट्स पर अब डॉक्टर्स उनके मोबाइल बिल के खर्चे, गेम्स अौर एप्स डाउनलोडिंग पर खर्चों पर भी जानकारी ले रहे हैं, ताकि उनकी निर्भरता का पैमाना तय हो सके। साइकाईट्रिस्ट डॉ. अारएन साहू ने बताया कि कई बार स्टूडेंट्स खुद आते हैं, तो कभी पेरेंट्स उन्हें साथ लेकर अाते हैं। एेसा अक्सर एग्जाम टाइम पर ही होता है, जबकि क्लास परफॉर्मेंस का रिजल्ट बिगड़ा हुअा अाता है या बच्चा बात करते वक्त या पढ़ाई करते वक्त भी साथ में मोबाइल रखता है। डिजिटल डिटॉक्स मे स्मार्टफोन या स्मार्ट डिवाइस की अादत छुड़ाई जाती है।  कथा मध्यप्रदेश का आयोजन 22 से   शीतल अटकड़े <img src=images/p3.png<img src=images/p1.png>   वेडिंग सीजन में ब्राइड्स के लिए रोजाना नए ट्रेंड आ रहे हैं। इन दिनों बेबी पर्ल ट्रेंड में है। ब्राइड्स की ज्वेलरी की बात करें तो जड़ाऊ के साथ बेबी पर्ल और कुंदन के सेट्स पसंद बने हुए हैं। मांग-टीका, नथ, कंगन, कमरबंद, ब्राइड की टॉप टू बॉटम एक्सेसरीज में बेबी पर्ल शामिल है। इसमें भी जड़ाऊ नथ काफी फेमस है। साथ ही दामिनी यानी माथा-पट्टी भी कई पैटर्न में मिल रही हैं। इसमें ब्रॉड दामिनी को ब्राइड्स पसंद कर रही हैं।   इसके अलावा रिंग्स बाजूबंद हाथ फूल और पाजेब में भी बेबी पर्ल ब्राइड्स की हर एक्सेसरीज में शामिल है। ज्वेलरी एक्सपर्ट पिंकी सचदेवा ने बताया कि अगर आप हैवी चोकर पहनें, तो इसके साथ लॉन्ग नेकपीस को अवॉइड करें।