ई-पेपर
Change Your City
 
हमेशा शाइन कर सकती है आपके स्मार्ट फोन की स्क्रीन   रियल लाइफ हीरो थे दशरथ मांझी   फिल्म के डायरेक्टर केतन मेहता ने बताया, दशरथ मांझी की कहानी इंस्पायरिंग होने के साथ नामुमकिन को मुमकिन बनाने और इश्क की इंतेहा है। इस तरह की कहानी रियल लाइफ में होना किसी चमत्कार से कम नहीं। उनकी कहानी तो मेरी नज़र में रियल मि. इंडिया और सुपरमैन जैसी है। आज के यूथ को एक रोल मॉडल अौर इंस्पिरेशन की जरूरत है। दशरथ मांझी रूपी उस रोल मॉडल और इंस्पिरेशन को मैंने आम आदमी तक पहुंचाने का सोचा। रिसर्च के दौरान जब हम उस जगह पर गए तो हमारे जूते घिस गए। मुझे हैरत होती है कि उस आदमी ने इस असंभव काम को अंजाम कैसे दिया होगा। जब नवाज से मिला था तो दिल से आवाज आई थी कि मांझी का किरदार यही निभा सकता है। वहीं उनकी पत्नी के किरदार के लिए बाकायदा ऑडिशन हुए। मैं चाहता हूं कि ट्रेलर की तरह लोग पूरी फिल्म को भी पसंद करें।  मंज़िल बदलनी है तो रास्ता भी बदलो: केतन भगत   भोपाल का माहौल यहां खींच लाया   आर्टिस्ट बालू कहते हैं कि पुणे से 8 साल पहले भोपाल का शांत माहौल यहां खींच लाया। कलाकार को ऐसे माहौल में क्रिएटिव वर्क करने की पूरी आजादी मिलती है। भागदौड़ से दूर इस हरे-भरे शहर में कई आर्टिस्ट वर्क करने के लिए आते हैं।   मिक्स मीडियम से कर रहे प्रयोग   एब्सट्रैक्ट फॉर्म में कलाकृतियां बनाने वाले उदय गोस्वामी बताते हैं, मुझे हमेशा कुछ अलग करना अच्छा लगता है। इसलिए मैंने मिक्स मीडिया में हाथ आजमाया। अलग-अलग तरह के रंगों से पेंटिंग बनाने में रचनात्मकता के साथ प्रयोग भी काफी करने होते हैं। यही मेरी यूएसपी बन गया है।  विदेशों की तर्ज पर आर्किटेक्चर के दो कोर्स होंगे शुरू
 
 
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन