Home >> Madhya Pradesh >> Bhopal City Bhaskar
    • Set as Default
     
     
    सिक्के बताते हैं, 2700 साल पहले भी उज्जैन थी शिवनगरी   अंतरराष्ट्रीय साहित्य संवाद का आयोजन आज से   डाइटीशियन डॉ. निधि पाण्डेय बताती हैं, इक्विनॉक्स तो हर साल आता है लेकिन शहर में कम हो रही ग्रीनरी के कारण अब इसका असर शहरों में ज्यादा देखने मिल रहा है। ध्यान रखने वाली बात यह है कि, इस समय डी-हाइड्रेशन से बचने के लिए ‘लो शुगर, ‘जीरो सॉल्ट या ‘जीरो कैलोरीज कॉन्सेप्ट को बिल्कुल फॉलो न करें, इससे आप पर डी-हाइड्रेशन का ज्यादा जल्दी असर होगा। डायटीशियन डॉ. अमिता सिंह बताती हैं धूप में कवर करके निकलें। नमकीन लस्सी लें और पानी की अधिकता देने वाले फलों को खाना शुरू कर दें।  रवींद्र भवन में तीन दिनी जश्न-ए-मामू कल से   पुनर्वालोकन नाट्य समारोह 30 मार्च से