Home >> Chandigarh >> City Life
    • Set as Default
     
     
    सिटी रिपोर्टर } 21साल से जिस मां ने बेटे को बड़े लाड़-प्यार से पाला हो, उससे कुछ उम्मीदें लगाई हो। उसी मां को जब पता चले कि उसका बेटा समलैंगिक है तो उस मां के दिल पे क्या बीतती है? किस तरह से वह इस सच्चाई का सामना करती है यही दिखाया गया नाटक “एक माधव बाग में। इसका मंचन बुधवार को पीयू में हुआ। (पढ़ेंपेज-2)  {अनुजा सिन्हा,   10वीं,डीएवी मॉडल स्कूल-15