Home >> Chandigarh >> City Life
Change Your City
 
सिटी रिपोर्टर } यहांघना जंगल हुआ करता था। उसमंें रहा करते थे ऐसे जीव जंतु जो अब सिर्फ या तो किताबों में नजर आते हैं या चिड़ियाघरों मंे। कुछ तो लुप्त होने के कगार तक पहुंच गए हैं। ऐसे में एक अच्छी पहल करते हुए हरियाणा के फॉरेस्ट डिपार्टमेंट ने मोरनी फोर्ट में वाइल्ड लाइफ म्यूजियम तैयार करने का फैसला लिया है।   इस म्यूजियम को बनाने का आइडिया क्यांे और कैसे आया? इससे आम आदमी को क्या फायदा होने वाला है? इस पर प्रिंसीपल चीफ कंजर्वेटर फॉरेस्ट डॉ. अमरिंदर कौर ने बताया कि हम लोगों के लिए एक ऐसी जगह तैयार करना चाहते हैं जहां जाकर वे केवल इस इलाके के वन्य जीवन को जानें और समझें बल्कि इस बात को भी सोचने पर मजबूर हों कि पर्यावरण की संभाल के लिए वे भी कुछ करना चाहिए। मोरनी तक चलकर आने वाले टूरिस्ट के लिए एक अतिरिक्त आकर्षण होगा जो उन्हें एजूकेट भी करेगा।   काबिलेजिक्र है कि मोरनी हरियाणा का एकमात्र हिल स्टेशन है। तकरीबन चार हजार फीट की ऊंचाई पर बसे इस छोटे से इलाके तक टूरिस्ट टिक्कर ताल देखने आते हैं। इस म्यूजियम के तैयार हो जाने के बाद यहां आने वालों की तादाद बढ़ेगी ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है। इस प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए मुंबई से आर्ट डायरेक्टर असद खान पहुंचे हैं। वे अपनी टीम के साथ यहां उन सब जानवरों को शक्ल देने का काम कर रहे हैं जिनकी जिंदगी को यहां दिखाया जाएगा। उन्होंने बताया-फिल्मों के अलावा इस तरह के प्रोजेक्ट में काम करना बहुत एक्साइटिंग है। यहां आप कुदरत के बहुत करीब होकर कुछ ऐसा काम करते हैं जो मनोरंजन ही नहीं एजुकेशन देने का काम भी करेगा।   शुुरुआती प्लान के मुताबिक यहां वे सभी वन्य जीव दिखाए जाएंगे जो इस इलाके में होते थे या अब भी हैं। उनके जीवन क्रम को दिखाया जाएगा। कुछ ऐसे प्राकृतिक दृश्य बनाए जाएंगे जो एकबारगी पुराने जमाने के जंगलों के जीवन का रोमांच दिखा सकेंगे। यह प्राेजेक्ट नवंबर के पहले हफ्ते मंे पूरा हो जाने की संभावना है। जिसके बाद इसे आम जनता के लिए खोल दिया जाएगा। माना जा रहा है कि इस बार सर्दियों के सीजन में यहां आने वाले टूरिस्ट इस जगह को खास तौर पर देख सकेंगे।  स्टूडेंट्स ने रंगोली मेकिंग से मनाया वर्ल्ड टूरिज्म डे  {बिट्‌टू सफीना संधू   राइटरऔर मोटिवेशनल स्पीकर
 
 
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन