Home >> Jharkhand >> Dbstar Dhanbad >> Dbstar Dhanbad
    • Set as Default
     
     
    नव वर्ष पर पिकनिक करने वालों की हर साल लगती है भीड़  ...और पूरी झील की सुरक्षा व्यवस्था एक सुरक्षा गार्ड पर  दो वर्ष में कई घटनाओं ने बदनाम कर दिया था तोपचांची झील को  कहते हैं यहां के लोग  {शांत पानी में उभरी परछाइयां घंटों बैठने को कर देती हैं मजबूर : झीलके शांत पानी में डैम के पीछे की पहाड़ियों और पेड़-पौधों की परछाई जब साफ-साफ उभरकर दिखाई देती है तो लगता है कि किसी ने बड़े से कैनवास पर मोहक चित्रकारी की है। कोयलांचल में इतनी खूबसूरत जगह की कल्पना भी करना मुश्किल है। पारसनाथ पहाड़ की तलहटी में बसा यह झील वाकई खूबसूरत है।   {फिल्टर प्लांट है आकर्षण का केन्द्र : तोपचांचीझील के डैम के नीचे फिल्टर प्लांट अपने आप में अजूबा है। यहां कोई इलेक्ट्रिक मोटर नहीं लगा हुआ है। मगर पानी का फिलट्रेशन होता रहता है और बिना किसी मोटर के पानी की आपूर्ति तिलाटांड़ तक हो जाती है। यह सैलानियों के लिए आकर्षण का केन्द्र है। झील परिसर में पर्यटकों के रहने के लिए गेस्ट हाउस भी उपलब्ध है। झील में इन दिनों खोरठा गानों का एलबम बनाने वाले लगातार रहे हैं।   {बनसकता है हजारों लोगों के रोजगार का साधन : यहांप्रकृति ने सब कुछ दिया। इसे अंग्रेज शासकों ने देखा और खूबसूरत बनाया पर यहां के देशी शासकों ने इसकी सूरत बिगाड़ने में ही हर तरह से योगदान दिया। इसकी उपेक्षा की। काश सरकार ने ध्यान दिया होता तो यह स्थल और भी आकर्षक होता। यहां के लोगों को पर्यटन से रोजगार भी उपलब्ध होता। मगर, यहां के युवक-युवतियों को उग्रवादियों के भरोसे छोड़ देने वाली सरकार से उम्मीद करना ही मजाक जैसा लगता है।   {सैलानियोंकी तादाद बढ़ने की उम्मीद : इसवर्ष भी झील में सैलानियों के बढ़ने की काफी उम्मीद है। माडा के कर्मचारी दिन रात मेहनत करके झील में फैली झाड़ियों की सफाई में लगे हुए हैं। ताकि झील के चारों ओर सैलानी आसानी से घूम सकें। वहीं झील की सुरक्षा व्यवस्था भी इस बार कड़ी कर दी गई है। बिना टिकट के किसी भी वाहन को प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा है। इससे सैलानियों में जो असुरक्षा की भावना थी वह धीरे-धीरे कम होने लगी है। झील अपनी खूबसूरती का दामन फैलाए बैठी हुई है ताकि सैलानी यहां आएं और यहां की नैसर्गिक खूबसूरती का आनंद उठा सकें।  क्या है यहां खास?  बंगला फिल्मों की नायिका ने यहां बना लिया आशियाना अभिनेता धर्मेंद्र की मशहूर हिन्दी फिल्मों में यहां के दृश्य  लोग ठंड से कंपकंपा रहे हैं, साहब मीटिंग कर रहे हैं