ई-पेपर
Home >> Dhanbad >> Dbstar Dhanbad
Change Your City
 
इलाके के लोग वर्षों से वहां नाले पर पुलिया बनाने की मांग कर रहे हैं, लेकिन अफसरों और जनप्रतिनिधियों ने कभी उनकी परवाह नहीं की। लोग प्रखंड और जिले के अफसरों को कई बार लिखित आवेदन दे चुके हैं। टुंडी के पूर्व विधायक और मंत्री रहे मथुरा प्रसाद महतो तथा पूर्व मंत्री मन्नान मल्लिक से भी गुहार लगा चुके हैं। पिछले साल यहां एक स्कूल में मुख्य अतिथि बनकर पहुंचे डीसी प्रशांत कुमार के सामने भी ग्रामीणों ने अपनी समस्या सुनाई थी। डीसी ने तब बीडीओ को इस संबंध में निर्देश भी दिया था, लेकिन बीडीओ ने पहले तो ध्यान नहीं दिया और फिर उनका तबादला हो गया।  ब्रो ब्रश भूलें   अपनी ब्रोज को भी रोजाना सुबह ब्रश की सहायता से शेप दें। ब्रश को ऊपर की तरफ फेरें। इससे आपके चेहरे को लिफ्ट मिलेगा। एक क्लीयर मस्कारा या हेयर स्प्रे से अपनी ब्रोज को दिनभर के लिए सेट कर सकती हैं।  पहले दिन से ही बेकार हो गई थीं लाइटें   शहरके तीन चौराहों पर लगाई गईं ट्रैफिक सिग्नल लाइटें पहले ही दिन से बेकार हो गई थीं। पहले तो सिर्फ लाल बत्ती जलती रही, फिर किसी तरह पीली बत्ती को जलाया गया। 10 दिनों तक सिर्फ पीली बत्ती जलती रही और इसके बाद पूरी व्यवस्था ध्वस्त हो गई। इस गड़बड़ी के बावजूद किसी अफसर के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई।   मेंटनेंसके लिए तकनीशियन नहीं   राष्ट्रीयखेलों के दौरान ट्रैफिक सिग्नल लाइटें बेकार हो जाने की एक वजह यह भी थी कि अफसरों की नजर सिर्फ याेजना की राशि पर थी। उन्होंने लाइटों के रख-रखाव के लिए प्रशिक्षित तकनीशियन का इंतजाम करने की जरूरत ही नहीं महसूस की थी। तभी तो पहले सिर्फ लाल बत्ती जली, फिर पीली। हरी बत्ती कभी जल ही नहीं सकी।
 
 
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन