ई-पेपर
Home >> Dhanbad >> Dbstar Dhanbad
Change Your City
 
झूलों का अानंद उठाएं और सदाबहार गानें भी सुनें   बिरसामुंडा पार्क मेंशनिवार और रविवार की शाम आप सदाबहार गानों का लुत्फ उठा सकते हैं। वहां शाम पांच बजे से सात बजे तक लोकल बैंक के कलाकार अपनी प्रस्तुतियां करेंगे। इस दौरान बेहतरीन गायकों की आवाज में आप नए और पुराने गानों को सुन सकते हैं। इसके साथ ही आप पूरे परिवार, खासकर बच्चों के साथ पार्क में लगे विभिन्न झूलों और राइड्स का भी आनंद उठा सकते हैं। पार्क में इंट्री के लिए टिकट लेना होगा, पर इसके ओपन एयर थिएटर में बैठकर गाने सुनने के लिए आपको अलग से कोई शुल्क नहीं देना पड़ेगा। कबऔर कहां... बिरसा मुंडा पार्क, शनिवार और रविवार, 5:00pm से  जर्जर होने के कारण बंद हो गया था विद्यालय   मध्यविद्यालय घनुडीह का भवन काफी जर्जर है। जर्जर हाेने के कारण शिक्षा विभाग ने उक्त विद्यालय को कुजामा मध्य विद्यालय में मर्ज कर दिया था। भवन खाली पड़ा हुआ था। लेकिन कुछ कमरों में शिक्षा केन्द्र चल रहा था। ओपी सिफ्टिंग योजना के तहत मरम्मति शुरू हो गई। इसकी जानकारी शिक्षा मित्र प्राण बाउरी, दीपक राउत आदि ने लिखित रूप से 17 अप्रैल 2015 को प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी चन्द्रशेखर भारती को दी। श्री भारती मध्य विद्यालय पहुंचे। मरम्मति कार्य होते देख संवेदक के कर्मी से पूछा। आदेश की प्रति मांगी। आदेश की प्रति नहीं होने पर कार्य बंद करवा दिया।  साइबर एक्सपर्ट राजेश के मुताबिक www.abhiyanfoundation.comनामकी इस वेबसाइट को 12 नवंबर 2014 को दिन के तीन बजकर 15 मिनट पर रजिस्टर्ड किया गया था। इसे पहली बार 13 नवंबर को इसके बाद 4 मार्च 2015 और आखिरी बार बीते 14 अप्रैल को अपडेट किया गया। यह वेबसाइट कनेश्वर साहु नाम के व्यक्ति थर्ड फ्लोर, प्रभा रेजिडेंसी, लोअर चुटिया रांची, नीयर मिलन चौक झारखंड को दिया गया है। स्मार्ट नेट लोगों सॉल्यूशन के जरिए बनी इस वेबसाइट में 9572196604और 8712197750 मोबाइलनंबर दर्ज किया गया है। इमेल एड्रेस के रूप में kaneshwar.kumar@gmail.comदियागया है। इसके अलावा वेबसाइट पर दिया गया कंटेंट और चित्र भी किसी अन्य संस्था से चुराया गया है। डीबी स्टार ने जब इस नंबर से बात की तो पता चला कि यह वेब डेवलपर का नंबर है। जिसे झांसा देकर आरोपी ने वेबसाइट बनवायी।   फर्जीवाड़ाकरने वाले ने साधारण डाक के जरिए आवेदन मांगा था। पता- अभियान फाउंडेशन, पोस्ट बॉक्स संख्या-97 , रांची 834001 दिया गया था।   पड़तालमें सामने आया कि ठगों ने यह पूरी तरह से गलत पता दिया है। क्योंकि पोस्ट बॉक्स संख्या विशेष रूप से किसी बड़े क्लाइंट को ही दिया जाता है। इसके अलावा आवेदन साधारण डाक से होने की वजह से पता नहीं मिलने पर इस आवेदन को वापस नहीं किया जा रहा है। ऐसे में आवेदकों को इसकी जानकारी नहीं मिल पा रही है। इसी का फायदा उठाकर ठगों ने दलालों के जरिए आवेदकों से नौकरी दिलाने के नाम पर रकम भी ले ली।
 
 
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन