ई-पेपर
Change Your City
 

Go to Page << Previous1234567...2122Next >>

 
 
 
योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण को ‘आप ने पीएसी से हटाया  भास्कर समूह ने लॉन्च किया Fashion101.in  दैनिक भास्कर पीपीएल चैंपियन  एक दिन का सच्चा समाजवाद... होली  फिर घटी रेपो रेट, सस्ते कर्ज की सुगबुगाहट नहीं  श्रीगंगानगर  भास्कर न्यूज नेटवर्क/एजेंसी|नई दिल्ली   दिल्लीदुष्कर्म के दोषी मुकेश शर्मा के इंटरव्यू पर बुधवार को जमकर हंगामा हुआ। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने संसद में कहा कि ‘सरकार सुनिश्चित करेगी कि डॉक्यूमेंट्री दुनिया में कहीं भी प्रसारित हो। क्योंकि इंटरव्यू लेने वाली ब्रिटिश फिल्म निर्माता लेसली उडविन ने शर्तें तोड़ी हैं। लेकिन देर रात बीबीसी ने बयान जारी कर साफ कर दिया कि वह सरकार की बात नहीं मानेगा। बीबीसी-4 अब तय समय से पहले डॉक्यूमेंट्री ‘इंडियाज डॉटर का प्रसारण करेगा। पहले 8 मार्च यानी महिला दिवस पर इसका प्रसारण होना था। इससे पहले दिल्ली की अदालत ने डॉक्यूमेंट्री का कंटेंट टीवी, अखबार या इंटरनेट पर प्रसारित करने पर रोक लगा दी है। मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट पुनीत पहवा ने यह आदेश मंगलवार देर रात ही जारी कर दिया था। शेष| पेज 17   इसकीजानकारी गृहमंत्री नं संसद में दी। राजनाथ ने तिहाड़ के डीजी आलोक कुमार वर्मा को बुलाकर इस बारे में भी जानकारी ली कि इंटरव्यू की इजाजत कैसे दी गई थी। राजनाथ ने बताया, इसकी अनुमति देने वालों की जवाबदेही तय करने के लिए जांच शुरू कर दी गई है।     ----------------------------   इंटरव्यू की थी 2 शर्तें   इसका इस्तेमाल सामाजिक उद्देश्य के लिए होगा। इंटरव्यू लिखित होगा, वीडियो नहीं। लेकिन लेसली ने इसका वीडियो बना बीबीसी को बेचकर कॉमर्शियल इस्तेमाल किया। सरकार लेसली के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की तैयारी भी कर रही है।   --------------------------------------   विदेश में प्रसारण रोकने के प्रयास शुरू   - गृह मंत्रालय ने बीबीसी से बात की है। विदेश मंत्रालय और सूचना प्रसारण मंत्रालय से भी अपने स्तर पर पहल करने को कहा है।   - सूचना प्रसारण मंत्रालय ने साफ किया, इसका कंटेंट टीवी पर प्रसारित करने, छापने या इंटरनेट पर अपलोड करना कोर्ट की अवमानना और मंत्रालय के प्रोग्रामिंग कोड का उल्लंघन होगा।   - दिल्ली के पुलिस कमिश्नर बीएस बस्सी ने भी बीबीसी और अन्य चैनलों को बताया कि इस पर सख्त प्रतिबंध लग चुका है।   ------------------------   ------------------   डॉक्यूमेंट्री के पक्ष में दो सांसद   अच्छा है कि यह डॉक्यूमेंट्री बनी। इससे सच सामने आएगा। गुस्सा इस पर है कि दुनिया को यह क्यों बताया जा रहा है कि रेपिस्ट एेसी बातें कर रहा है। ऐसी बातें तो मैं इस सदन में सुन चुका हूं कि औरत रात को सड़क पर घूमेगी तो वो प्रॉब्लम को इनवाइट कर रही है।   - जावेद अख्तर   वास्तविकता तो ये है कि आरोपी ने जो बोला वही हमारे देश के कई मर्दों की सोच है। हम असल मुद्दे का सामना करने के बजाय उससे भाग क्यों रहे हैं? हमें यह दिखाने की जरूरत नहीं है कि ‘आल इज वेल। इसका प्रसारण रोक देना जवाब नहीं है।   - अनु आगा   फांसी के लिए बने विशेष कोर्ट : कुरियन   - उपसभापति पीजे कुरियन ने भी कहा कि तिहाड़ डीजी और दूसरे अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए।   - दुष्कर्म के दोषी मुकेश को जल्दी से जल्दी फांसी देने के लिए विशेष कोर्ट बने। ऐसा इंटरव्यू स्वीकार्य नहीं है।   ------------------------   सवाल पूछा तो भड़क गए शिंदे   इंटरव्यू की इजाजत तत्कालीन गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे के कार्यकाल के दौरान दी गई थी। शिंदे से जब इस बारे में एक टीवी चैनल ने सवाल किया तो वह भड़क गए और पत्रकार को धमकी दे डाली। उन्होंने कहा, ‘गृह मंत्री ने मेरा नाम नहीं लिया है। आप मेरा नाम ले रहे हैं। यह बिल्कुल गलत है। इसके बाद उनके पास खड़े तेलुगू ऐक्टर मोहन बाबू ने पत्रकार से बदसलूकी करते हुए माइक को नीचे दबा दिया।
 
 
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन