Home >> Madhya Pradesh >> Gwalior >> Dbstar Gwalior
Change Your City
 

Go to Page << Previous1234567...1011Next >>

 
 
 
जिला अस्पताल में इलाज कराने पहुंच रहे मरीजों के पर्चे (आेपीडी टिकट) जेल में अटक गए हैं। सिविल सर्जन ने तीन माह पहले जेल को स्टेशनरी प्रिंटिंग का ऑर्डर दिया, लेकिन जेल से सप्लाई नहीं हुई। स्टेशनरी न होने के कारण मरीजों के दवा के पर्चे पर ही ओपीडी टिकट बनाकर उसे जमा करा लिया जाता है। मरीज जब दोबारा फॉलोअप के लिए आता है, तो पर्चा न होने के कारण पता ही नहीं चलता कि उसे पिछली बार क्या दवा दी गई थी।   प्रमोशन में आरक्षण पर रोक के उच्च न्यायालय के आदेश के बाद प्रदेश के 460 सब इंस्पेक्टरों की पदोन्नति फंस गई है। हाल ही में इंस्पेक्टर से डीएसपी की डीपीसी के बाद 250 से अधिक टीआई प्रमोट हो गए। अब प्रदेश में 400 से अधिक थाने टीआई विहीन हैं और इनका प्रभार सब इंस्पेक्टरों के पास है।  एमएलबी में रिनोवेशन कर रही ठेकेदार की लेबर का आशियाना बना कॉलेज सभागार
 
 
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन