Home >> Madhya Pradesh >> Indore >> Indore City Bhaskar
Change Your City
 
वंस अपॉन ए टाइम… आईएमए केे मंगलवार को हुए कार्यक्रम का शीर्षक यही था… इसमें अपनी कहानी सुनाई टाइम मैगज़ीन के हंड्रेड मोस्ट इन्फ्लुएंशियल पर्सन्स ऑफ द वर्ल्ड में शुमार अरुणाचलम मुरुगनंथम ने। इन्होंने बहुत किफायती सैनिटरी नैपकिन्स बनानेवाली मशीन बनाई है ताकि गांवों की महिलाएं सर्वाइकल कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से बच सकें। बहुत अपमान झेलकर सफल हुए हैं मुरुगनंथम, पढ़िए उन्हीं की जुबानी...  आप ऐसे कर सकते हैं रेनवॉटर हार्वेस्टिंग   इस वर्कशॉप में पहले एक 6 फीट चौड़ा और 5 फीट गहरा गड्‌ढा खोदा गया। गड्‌ढा बोरवेल से 4 फीट की दूरी पर बनाया गया। इसकी लेवलिंग की। इसमें 1.5 की हाइट तक क्रश्ड पत्थर और बोल्डर डाले। अगले 1.5 फीट तक ईंटों के टुकड़े डाले। इसके ऊपर बारीक काली ग्रेवल डाली। अब घर की छत से लेकर गड्‌ढे तक 280 फीट लंबी और 4 इंच चौड़ी पीवीसी पाइपलाइंस डालीं। पाइप का एक सिरा छत और एक गड्‌ढे में दिया। गड्‌ढू को ऊपर से बैम्बू की बुनी हुई मैट से कवर किया ताकि कीड़े वगैरह या जीव जंतु इसमें न जा सकें। इस तरह 2400 स्क्वेयर फीट के रूफ एरिया पर गिरनेवाला पानी इकट्‌ठा किया जा सकेगा। बारिश के दिनों में हर दिन 40 हज़ार लीटर की वॉटर रिचार्जिंग यह गड्‌ढा कर सकेगा। इससे ग्राउंड वॉटरटेबल का लेवल बना रहेगा।  फैक्ट फाइल   n 250 एलिमेंट्स से बन रही नेचरल डाइज़   n 98 फीसदी है कन्वेंशनल कॉटन की पैदावार   n 02 फीसदी ऑर्गेनिक कॉटन की पैदावार   n 90 फीसदी ऑर्गेनिक कॉटन किया जा रहा एक्सपोर्ट   n 900 करोड़ रुपए के बिज़नेस वाली फैब्रिक इंडस्ट्री में 30 फीसदी बिज़ेस वेजिटेबल व नेचरल डाइज़ से   (रंगों व आंकड़ों की जानकारी ली गई वेजिटेबल डाई प्रिंटिंग में अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त बृज वल्लभ उदयवाल से)  सिने विज़न इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल 2 जून से   गर्मी में बढ़ सकती हैै यूटीआई की परेशानी
 
 
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन