Home >> Madhya Pradesh >> Indore City Bhaskar >> Indore City Bhaskar
    • Set as Default
     
     
    माया महाठगिनी हम जानी...   इस मौके पर सिटी भास्कर सेबातचीत में उन्होंने कहा कि मैं 18 बरस से गिटार बजा रहा हूं और कह सकता हूं कि आज की जनरेशन रॉक और फ्यूज़न के साथ ही मेलोडियस सॉन्ग्स ज्यादा पसंद करते हैं। एक अच्छा गाना तभी बनता है, जब उसमें मेलोडी हो। इसके बिना म्यूजिक अधूरा है। यंगस्टर्स को मैं अक्सर कहता हूं कि पैसा ज़रूरी है लेकिन पहले खुद को काबिल साबित करना ज़रूरी है। मैंने संगीत से पागलों की तरह मोहब्बत की है। तब जाकर मेरी मोहब्बत मुकम्मल हो पाई है। पहले गीतों में वजन होता था। अब वैसा काम नहीं हो रहा।  लक्ष्य से समाधान   पीथमपुर स्थित एक कंपनी ने हाइड्रोलिक फिल्टर में थोड़ा सा चेंज कर, ऑइल फ्लो को प्रॉपर किया साथ ही ऑइल कंटामिनेशन में भी कमी की। इसके अलावा पहले जहां फिल्टर असेंबली के लिए स्किल्स लेबर ज़रूरी होता था वहीं अब अनस्किल्ड लेबर भी इसे आसानी से कर लेती है। इस कायज़न को पहला पुरस्कार दिया गया। एक अन्य टीम द्वारा रोबो वेल्डिंग मशीन के लेंस में आनी वाली खराबी को कायज़न से दूर किया। टीम ने प्रेजेंटेशन में बताया कि पूराने लेंस को एसिड से साफ कर बफिंग कर हमने उसे वापस उपयोगी बनाया।  सही बॉडी लैंग्वेज भी है सेल्फ मैनेजमेंट का एक महती हिस्सा   सिटी रिपोर्टर <img src=images/p3.png<img src=images/p1.png> इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नालॉजी के डिपार्टमेंट ऑफ सोशियोलॉजी ने शुक्रवार को एक लेक्चर आयोजित किया गया। इसमें सेक्यूलरिज़्म इन इंडिया: इश्यूज़ एंड चैलेंजेस विषय पर इंडियन ओरिजिन के ब्रिटिश जर्नलिस्ट तुफैल अहमद ने स्टूडेंट्स को संबोधित किया।   उन्होंने कहा कि आज़ादी के बाद भारत के मतदाता नए इंटलेक्चुअल्स के तौर पर उभर रहे हैं। यदि 25 की उम्र को युवा माना जाए तो भारत की 55 फीसदी जनसंख्या युवा है और यदि इस आंकड़े को 35 कर दिया जाए तो 70 फीसदी जनसंख्या युवा है। और शिक्षा के आधार पर देखें को तो दलित और महिलाएं इस देश के सबसे बड़े अल्पसंख्यक हैं।  10 दिनी बाग महोत्सव आज से   डिजिटल इकोनॉमी को प्रमोट करेंगे स्टूडेंट्स   सिटी ट्रेंड   विंटर में पर्ल और मैटेलिक जूलरी का क्रेज़   ग्लैमर    फरहान की ‘लखनऊ सेंट्रल में कृति की जगह सैयामी