Home >> Madhya Pradesh >> Indore City Bhaskar >> Indore City Bhaskar
Change Your City
 
रेशमा की लम्बी जुदाई से जग घुमेया तक के गीत सुनाए   जुदा-जुदा रंगों और अहसास को सभी गायकों ने अपने दमदार गायन से अभिव्यक्त किया। पिया रे, अंखियों को रहने दे, क्या जानूं सनम, अल्ला हू, सानू इक पल, लगन-लगन, जग घुमेया, तेरे बिन नहीं लगदा, सतरंगी, सजदा, लम्बी जुदाई, मैं तैनू समझावां, चिठिये, छाप तिलक सब छीनी रे मोसे नैना मिलाइके, लागे जैसे गीतों ने श्रोताओं को मौसिक़ी के साथ साथ इश्क़ और इबादत के जज़्बातों से जोड़ने में मदद की। हैदर अली, बाबू कुकरेजा की-बोर्ड, विजय सचदेवा लीड गिटार, विजय राव तबला, आकाश रणदीवे ढोलक, आदित्य शिंदे बेस गिटार और अनिल जाधव ने ऑक्टोपैड पर मुकम्मल संगत दी। स्थानीय कलाकारों में स्वरांश पाठक, सचिन दवे और शिवांगी पाठक ने भी गाया। कार्यक्रम का सूत्र संचालन संजय पटेल ने किया।  हर महिला के जीवन में आता है यह दौर, शून्य सी लगती है ज़िंदगी
 
 
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन