Home >> Madhya Pradesh >> Indore City Bhaskar
    • Set as Default
     
     
    ये तीनों धुरंधर कबड्‌डी की ऐसी खिलाड़ी हैं जो मैदान में प्रतिद्वंद्वियों पर ही नहीं जिंदगी की परेशानियों पर भी क़हर बनकर टूटी हैं। इस खेल को जीने के लिए इन्होंने जो सफर तय किया वो एक मिसाल है। घर में घी नहीं तो ताकत के लिए सत्तू घोलकर पी लिया... चने की दाल फांककर दांव लगाए... छिले हुए हाथ का दर्द छिपाया कि पिता ने देख लिया तो खेलने नहीं देंगे। जब हौसलों ने शिखर को छुआ ताने मारनेवालों का नज़रिया ही बदल गया। किसी के नाम पर गांव में क्लब खुल गया तो कहीं पिता ने घर के बाहर बिटियारानी की नेमप्लेट लगवाई। इनके गांव का हर पिता कहता है “देख तुझे इसके जैसा बनना है‘!  ग्रुप मैथमेटिकल ओलिंपियाड मेंं शामिल होने से पहले देना होगी यह एग्जाम  युवाओं की पसंद बन रहे ये प्रिंट स्टाइल   इनडोर पॉल्यूटेंट्स खत्म करने के लिए घर में लगा रहे एरिकापाम और एलोवीरा   पहले सरल सवाल करें   पेपर में सबसे पहले केमिस्ट्री सॉल्व करे तीस से पैतालीस मिनिट में। इसके बाद जो आपको आसान लगता है, मैथ्स या फिजिक्स, उसे एक घंटा दे और केमिस्ट्री से बचाया हुआ समय अपने कठिन विषय पर दे। अगर आपको आसान लगने वाले विषय के प्रश्न अत्यधिक कठिन हो, तो ज्यादा समय व्यर्थ ना करके दूसरे विषय पर चले जाए, क्योंकि निश्चित रूप से वह आसान होगा, व उसके प्रश्न बनने लायक होंगे।  शरतचंद्र पर कार्यक्रम आज   ग्लैमर    “मैं एक्सपर्ट नहीं हूं, जो किसी के फैशन पर कमेंट करूं