Home >> Madhya Pradesh >> Indore >> Indore City Bhaskar
Change Your City
 
सोच बदल लें तो जनरेशन गैप का रिश्तों पर असर नहीं   शो शुरू होने से पहले माय एफएम ऑफिस में कंटेस्टेंट्स की मेकअप और स्टाइलिंग की गई। सभी ने कुछ वॉइस मैसेजेस रिकॉर्ड किए।  पॉपकॉर्न सूप   पैन में ऑलिव ऑइल गर्मकर एक्ट टू पॉपकॉर्न डाले। लिड लगाकर इन्हें पॉप कर लिया। थोड़ी पॉपकॉर्न गार्निश के लिए निकाल ली। अब पैन वाली पॉपकॉर्न में चॉप्ड सेलेरी और गार्लिक पेस्ट डाला। कुछ देर सॉटे किया और फिर थोड़ा क्रीम, दूध, हरा धनिया, पिसी काली मिर्च डाली और कुछ देर पकाने के बाद ब्लेंडर में डालकर इसे पीस लिया। सॉल्टेड मक्खन मिक्स किया और शॉर्ट ग्लासेस में डाला। ऊपर से पॉपकॉर्न और बॉइल्ड स्वीट कॉर्न से गार्निश किया।  कई चरित्रों को निभाते ज़िंदगी के रंग जाने   रंगमंच के जरिए ही मुझमें साहित्य, कविता, दर्शन और मनोविज्ञान में गहरी दिलचस्पी पैदा की। और मैं खुशनसीब हूं कि रंगमंडल भोपाल में दिग्गज रंग-निर्देशक ब.व. कारंत के साथ रंगमंच करने का लंबा अनुभव मिला और फिर राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय में डिग्री लेने के बाद फिर कारंतजी के साथ काम किया। इस दौरान मैंने आधू-अधूरे, शाकुंतलम् में दुष्यंत, हयवदन, अंधायुग में अश्वत्थामा, फादर में फादर, मृत्युंजय में कर्ण और ईडिपस में ईडिपस जैसे बहुत ही जटिल और चुनौतिपूर्ण भूमिकाएं करने को मिली। और यह सब करते हुए चरित्रों के रंग-रूपों, उसके सुख-दु:ख और स्वप्न-आकांक्षाओं से मैंने ज़िंदगी को कुछ और करीब से जाना-महसूस किया। इसके बावजूद पांच हजार साल पुरानी नाट्य परंपरा में मैं अपने को नवागत मानता हूं।
 
 
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन