Home >> Madhya Pradesh >> Itarsi
    • Set as Default
    रसोई | थाली में इडली, देसी खाना नहीं मिलता   परदेसी दुल्हनें अब रसोई में सांभर, चोखा, चावल भी पकाने लगी हैं। पति और सास-ससुर भी बहू के अनुसार ही खाना खा रहे हैं। क्योंकि बहु को देसी खाना बनाना नहीं आता। मोखरी गांव के 70 वर्षीय प्रेमसिंह बताते हैं कि उनकी दो बहुएं दूसरे प्रदेश से हैं। सर्दी में हम बाजरे की खिचड़ी, रोटी खाते थे, लेकिन अब चावल ज्यादा बनने लगा है। सांबर और दाल के साथ, यह हमने पहले कभी नहीं खाया।  नशे के खिलाफ तीन करोड़ लोगों ने बनाई 11400 किमी लंबी मानव श्रृंखला   ढाई लाख बहुएं बाहर से, 46% अब भी कुंवारे   <img src=images/bulletblack.png<img src=images/p1.png>अमेरिकी कॉलेजों में प्रवेश की दो परीक्षाओं में 100% अंक लाने वाला पहला भारतीय है अनघ   <img src=images/bulletblack.png<img src=images/p1.png>डेढ़ लाख जुटाकर गरीबों के लिए टॉयलेट बनवाए   <img src=images/bulletblack.png<img src=images/p1.png>1000 पेज की किताब एक बार में पढ़ ली थी   सरकार ने छठी बार कहा- दिल का इलाज सस्ता होगा, पर खर्च 50% तक बढ़ गया   गांव में किसी की लम्बाई 3.5 फीट से ज्यादा नहीं   पिता की मौत, मां ने छोड़ा, नानी बीमार, बना घर का मुखिया   कल नो निगेटिव न्यूज के साथ करें   नए सप्ताह की पॉजिटिव शुरुआत