Home >> Madhya Pradesh >> Hoshangabad Bhaskar >> Hoshangabad Bhaskar
    • Set as Default
     title= बाइक से जांच करने पहुंचे एसडीएम-तहसीलदार   नियमों ने बदली मिट्टी के खेल, खिलाड़ियों की किस्मत   <img src=images/bulletblack.png<img src=images/p1.png>जिला अस्पताल में नाइट ड्यूटी सिर्फ ई-टेड कक्ष में लगी रहती है।   <img src=images/bulletblack.png<img src=images/p1.png>रात में एक्सीडेंट और फ्रैक्चर के बाद ट्रामा संबंधित सुविधा नहीं है।   <img src=images/bulletblack.png<img src=images/p1.png>एक्स-रे, अल्ट्रासाउंड, सोनोग्राफी रात में नहीं की जाती।  इंप्लांट नहीं मिलते मरीजों को   सरकारी अौर अस्पताल में शासन स्तर पर जिला ट्रामा सेंटर में निशुल्क इंप्लांट उपलब्ध कराने का नियम है। लेकिन मरीजों के लिए हड्डी के इंप्लांट बाजार से खरीदने पड़ते हैं। ट्रामा में स्टाफ भी नहीं है।  डॉक्टर बातों में मशगूल, मरीज बेहाल, जहां देखो वहां लगे ताले   भास्कर संवाददाता | होशंगाबाद, जिला अस्पताल में व्यवस्थाएं बीमार, सिस्टम फ्रैक्चर और सुविधाएं वेंटीलेटर पर हैं। मरीजों को बेहतर इलाज तो दूर हर तरफ मुसीबत झेलनी पड़ती है। अस्पताल के ट्रामा सेंटर, अस्थि रोग विभाग, एक्स-रे रूम में ताले लटके हैं। गंभीर मरीजों को केवल ग्लूकोज की बोतलों का सहारा है। मजबूरी में मरीजों को निजी अस्पतालों में महंगा इलाज कराना पड़ता है। भास्कर ने जिला अस्पताल का स्कैन किया तो हकीकत कुछ इस तरह सामने आई।  ग्राउंड रिपोेर्ट... रात मेंं ट्रामा सेंटर बंद, मरीजों को निजी अस्पताल ले जाने की मजबूरी   जिला अस्पताल बीमार, वेंटीलेटर पर मरीजों की सुविधाएं, सिस्टम फ्रैक्चर   काले महादेव मंदिर सजा, 32 साल बाद समसप्तक योग में आज मनेगी महाशिवरात्रि   रुपए न देने पर ब्लेड मारी  काली पट्टी बांधकर विरोध  गुणवत्ताहीन मिला खाना, गंदगी पंखे भी मिले खराब   मूल्यांकन में नहीं बैठे ताे फिर से परीक्षा का मौका  ट्रेन से कटकर तेंदुए की मौत गड्ढे के पास मिला बाघ का शव   रायपुर खदान से रेत से भरी तीन अवैध ट्रैक्टर ट्राॅली   मेले की लाइट बंद कराई ग्राउंड खाली करने के निर्देश   काम के बहाने नाबालिगों को बेचा, तीन गिरफ्तार   भास्कर विश्लेषण   महिला को देता था गाली हुआ विवाद, मामला दर्ज  पुल से नीचे गिरी महिला के परिजनों का पता नहीं लगा  रुपए नहीं देने पर बेटे ने पिता को कुल्हाड़ी मारी  अब नर्मदा के किनारे लगेंगे बुजुर्गों के बताए पौधे