Home >> Madhya Pradesh >> Jabalpur
Change Your City
 

Go to Page << Previous1234567...1516Next >>

 
 
 
नेताजी से जुड़ी 25 और गोपनीय फाइलें सार्वजनिक  एजेंसी | नई दिल्ली   मध्यप्रदेश में व्यापमं से जुड़े एक मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई को लेकर दो बेंचों के बीच कानूनी मसला उभर कर सामने आया है।   इस मामले में दो जजों जे चेलमेश्वर और एएम सप्रे की बेंच ने मई में फैसला दिया था। बेंच ने 634 मेडिकल छात्रों को व्यापमं की प्रवेश परीक्षा में अनुचित साधनों का दोषी पाया था लेकिन उनकी सजा को लेकर दोनों जजों में मतभेद को देखते हुए चीफ जस्टिस ने तीन जजों की बेंच को मामला भेजा है। अब इसे देख रही बड़ी बेंच ने आदेश को लेकर स्पष्टीकरण चाहा है। उसने जानना चाहा है कि वह पूरे मामले की दोबारा सुनवाई कर सकती है या वह दोषी छात्रों की सजा तक ही अपने को सीमित रखे।इस पर दो जजों की बेंच ने कहा है कि फैसला दिए जाने के बाद किसी मामले में नए सिरे से सुनवाई किए जाने से सुप्रीम कोर्ट के भीतर अपील (इंट्रा कोर्ट अपील) की स्थिति बनेगी। न तो संविधान के तहत और न ही किसी मौजूदा कानून के तहत इसकी अनुमति है। बेंच ने कहा है कि हमारी राय में न तो संविधान में न ही किसी कानून में जहां तक सुप्रीम कोर्ट का सवाल है अपील (इंट्रा कोर्ट) का कोई प्रावधान है। अगर बड़ी बेंच इस तरह की स्थिति पैदा करना चाहती है तो हम इसे राेकने में लाचार हैं। हम इस बारे में कानून की अपनी समझ को ही सामने रख सकते हैं।  मीटिंग में सो रहे अफसर को तानाशाह किम ने एंटी एयरक्राफ्ट गन से उड़ाया   सेंसेक्स +440.35 28,343.01   यूरो -0.24 74.84   डॉलर -0.16 67.02   सोना 0.00 31,100   चांदी - 50 44,950  15 साल बाद देश में नशीली दवाओं के इस्तेमाल का सर्वे  एलईडी बल्ब 55 की बजाय 38 रुपए में मिलेंगे  युद्ध स्मारक की डिजाइन पर 2 करोड़ का अवॉर्ड  स्टेशन पर रिटायरिंग रूम अब घंटे के हिसाब से बुक होंगे  48 लाख लोगों के खाते में आज आएगा बढ़ा वेतन-एरियर   भारत-अमेरिका एक-दूसरे के सैन्य अड्डे करेंगे इस्तेमाल   मंत्रियों का ‘स्वीटहार्ट डील घोटाला; यूरोपियन यूनियन ने कहा आयरलैंड सरकार एपल से 97 हजार करोड़ रु. का टैक्स वसूले   14 राज्य | 69 संस्करण
 
 
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन