Home >> Rajasthan >> Jaipur City Bhaskar >> Jaipur City Bhaskar
Change Your City
 
मोतीडूंगरी मंदिर में होगा कथक  एक छत के नीचे फोटोग्राफी के सभी आयाम  ब्रिटिश आर्मी ने शुरू किया था साइकिल पोलो   साइकिलपोलो ब्रिटिश आर्मी पर्सन समर में खेला करते थे। असल में यह कॉन्सेप्ट इसलिए आया क्योंकि समर में हॉर्सेस को आराम दिया जाता है। इसलिए आर्मी पर्सन को फिजिकली एक्टिव रखने के लिए साइकिल पोलो शुरू किया गया। साइकिल पोलो फैडरेशन ऑफ इंडिया के प्रेसिडेंट रघुवेंद्र सिंह डूंडलोद ने बताया कि ब्रिटिशर जब इंडिया आए तो यहां इतनी गर्मी थी कि घोड़े पर पोलो खेलना मुश्किल था इसलिए साइकिल पोलो खेलना शुरू किया। इसके बाद यह ट्रैंड में गया और इसे इंडिया में भी खेला जाने लगा।   ओलिंपिकमें भी साइकिल पोलो खेला जाता था   साइकिलपोलो इतना लोकप्रिय हुआ कि दूसरे ओलिंपिक तक यह ओलिंपिक में खेला जाता था। दूसरे ओलिंपिक में इंडिया ने साइकिल पोलो में गोल्ड मेडल जीता था।  परिषद भवन   नं.कैटेगरी टाइमिंग   1.मिक्सड बैच सुबह 9:45-10:45   2. फीमेल बैच सुबह 11:00-दोपहर 12:00   3. मिक्सड बैच दोपहर 2.45 से 3.45   4. मिक्सड बैच शाम 4:00-5:00   दैनिकभास्कर कार्यालय   1.मिक्सड बैच सुबह 8:30-9:30   2. मिक्सड बैच सुबह 9:45-10:45   3. फीमेल बैच सुबह 11:00-दोपहर 12:00   4. फीमेल बैच दोपहर 12:15-1:15   5. मिक्सड बैच दोपहर 2:45-3:45   6. मिक्सड बैच शाम 4:00-5:00   7. मिक्सड बैच शाम 5:15-6:15   8. मिक्सड बैच शाम 6.30 से 7.30   9. मिक्सड बैच रात 7.45 से 8. 45  पिछवई आर्ट से सजे पैपलम टॉप्स  {सुषमा केके   फूडराइटर  किस्सागोई आयोजन में हुआ बंटवारे का दर्द जीवंत  मेट्रो ने शुरू किया मोबाइल एप, फोन पर मिलेगी सफर की जानकारी  फैशन क्लोसेट की शुरुआत 1 सितंबर से
 
 
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन