Change Your City
 
ऑर्थोपीडिशियन होने के बावजूद केस हो रहे हैं रेफर     राजकीय अस्पताल में दुर्घटना में घायल होने वाले गंभीर मरीजों के उपचार में भी कमोबेश यही स्थिति है। करीब छह महीने पहले यहां एक ऑर्थोपीडिशियन (कनिष्ठ विशेषज्ञ)की नियुक्ति होने के बाद भी उपचार के लिए आने वाले ऑर्थो के पेशेंट्स को प्राथमिक उपचार के बाद रेफर कर दिया जाता है।     ऑर्थो से संबंधित रेफर मरीजों की स्थिति     माह रेफर     अक्टूबर 13 13   नवंबर 13 17   दिसंबर 13 10   जनवरी 14 14   फरवरी 14 12   मार्च 14 09   18 अप्रैल तक 10  भास्कर न्यूज.   पादरली   वार्ड संख्या 10 में नालियों की सफाई नहीं होने से पिछले कई दिनों से एक समाज विशेष के लोग नालियों पर पत्थर व मिट्टी डाल पानी का बहाव रोक रहे हैं। वार्ड वासियों ने पंचायत को लिखित में शिकायत करने के बावजूद कार्यवाही नहीं हो रही है। पिछले कई दिनों से नालियों के पानी को रोकने पर शनिवार सवेरे वार्ड 10 में गंदे पानी की निकासी की बहस पर लोग आमने सामने हो गए। यहां तक की एक दूसरे पर वार करने की कोशिश करने लगे। इसपर क्षेत्र के रूपाराम मेघवाल के साथ नैनाराम गर्ग ने नालियों से रोका हटाने की शिकायत कार्यरत सरपंच व वार्डपंच लछाराम भील से की। इस पर सरपंच पति जबरसिंह परिहार व वार्डपंच लछाराम भील मौके पर आए तथा आपस में झगड़ रहे लोगों से समझाईश कर शांत किया। क्षेत्रवासी बाबूसिंह देवड़ा ने सरपंच पति व वार्डपंच को चेतावनी देते हुए बताया कि जबतक मुख्य नाला जो जीएलआर के पास से गुजरता है उसमें से गंदगी हटाने तथा वार्ड में टूटी नालियों की मरम्मत नहीं करवाई जाएगी नालियों पर रोका लगाएंगे।  हादसे में घायल की मौत
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन