Change Your City
 
झे अपने स्कूल के दिनों से ही पता था कि मुझे 9 से 5 की नौकरी नहीं करनी है। वजह यह थी िक मैं एक रुटीन में बंधकर नहीं रह सकता था। अच्छी बात यह रही िक पढ़ाई के दौरान ही मुझे दुनिया देखने काे मिली। झारखंड-बिहार से लेकर कोल्हापुर, कनाडा और यूएस। इस दौरान मैंने अलग-अलग लोगों के साथ तालमेल बैठाना सीखा। यहीं से मैंने पब्लिक स्पीकिंग भी सीखी। स्कूल की पढ़ाई पूरी हुई तो परिवार का दबाव था कि इंजीनियरिंग की पढ़ाई करूं। इसी वजह से मैंने इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग की डिग्री ली। हालांिक, कड़ी मेहनत के साथ इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल करने के बावजूद इसे अपना करियर नहीं बना पाया। इस बात का पेरेंट्स को दुख जरूर था, लेकिन उन्होंने उम्मीद नहीं छोड़ी। वे जानते थे कि मैं सरवाइवर हूं और मेरे लिए अपने आसपास के लोगों के लिए कुछ बेहतर करना और जिंदगी अपनी शर्तों पर जीना बहुत मायने रखता है। मैंने कॉलेज में पब्लिक स्पीकिंग और कम्यूनिकेशन स्किल्स पढ़ाना शुरू किया और महीने में 60,000 से 70,000 रुपए कमाने लगा। यहीं से एक्टिंग की राह पकड़ी और टीवी से लेकर फिल्म और फिर प्रोडक्शन में हाथ आजमाया और आज इस मुकाम पर हूं। निजी तौर पर मेरा मानना है िक आप जिस प्रोफेशन को अपनाना चाहते हैं, उसे मन में असफलता का डर लेकर अपनाएं। यह डर आपको कामयाब होने नहीं देगा। इसे पीछे छोड़ दीजिए और पूरी शिद्दत के साथ जुट जाइए, देखिए जीत आपकी होगी। जीवन में कुछ चीजें करने पर ही सीखी जा सकती हैं। और हां, अगर असफल हो भी जाएं तो पूरी ग्रेस के साथ पीछे हट जाएं। मैं भी अपनी नाकामी का सामना ठीक वैसे ही करता हूं जैसे अपनी कामयाबी का। बस एक दिन के लिए प्रभावित होता हूं और फिर आगे निकल जाता हूं। मसलन कोई फिल्म हिट या फ्लॉप हो जाए तो मैं एक ही दिन उसका जश्न या दुख मनाता हूं और अगले दिन नई तैयारियों में लग जाता हूं।  पेज  बड़े और बेहतर कॉलेज या कहें ब्रांडेड कॉलेज ही अच्छी नौकरी दिला सकते हैं, यह एक भ्रम है। नेशनल एम्प्लॉयबिलिटी रिपोर्ट के मुताबिक रोजगार योग्य उम्मीदवारों का 50 प्रतिशत टॉप कॉलेजों और 50 प्रतिशत कम प्रतिष्ठित कॉलेजों में पैदा होता है।  आपका मोबाइल बार-बार हैंग होने लगा है, या फिर किसी जरूरी टास्क के दौरान क्रैश हो जाता है और अक्सर आपकाे अपना फोन री-स्टार्ट करना पड़ रहा है तो क्लीन मास्टर आपके लिए है। दुनियाभर में सबसे ज्यादा डाउनलोड किया जाने वाला यह एंड्रॉइड क्लीनर एप आपके फोन की रैम को रिफ्रेश कर देता है और काम आने वाले बेकार कैचे और डाटा को फोन की रैम से निकाल बाहर करता है। इससे सिर्फ आपके फोन की स्पीड बेहतर होती है, बल्कि बैटरी लाइफ भी बढ़ जाती है। अच्छी बात यह है कि यह एंड्राॅइड प्ले मार्केट पर एकदम मुफ्त उपलब्ध है। तो बस डाउनलोड कीजिए और फास्ट हो जाइए।  स्टडी  नौकरियां  करियर कोच  सोशल एंटरप्रेन्योर > जिंदगीबचाने के मिशन पर उद्यमी  स्कॉलरशिप  शिखर
 
 
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन