Home >> Rajasthan >> Jodhpur >> Dbstar Jodhpur
Change Your City
 
जोधपुर | सामुदायिकस्वास्थ्य केंद्रों प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में बुधवार को होने वाले सफाई टेंडरों में कुछ जगह ब्लॉक बीसीएमओ ने टेंडर कॉपी में सरकारी गाइडलाइन ही बदल दी है। उन्होंने उसमें दी शर्तों में बदलाव करते हुए अपनी ओर से अन्य शर्तें जोड़ दी हैं। ऐसा करने के पीछे उन पर अपने चहेतों को फायदा पहुंचाने का आरोप लगाया जा रहा है।   ठेकेदारों की सूचना पर डीबी स्टार ने मामले की पड़ताल की तो पता चला कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में सफाई टेंडर की कॉपी में अफसरों ने कुछ जगहों पर शर्तों में बदलाव कर दिया है। इनमें सालावास खंड और बावडी खंड में बीसीएमओ ने टेंडर कॉपी में सरकारी गाइडलाइन को ताक पर रखते हुए अपनी ओर से शर्तें जोड़ी हैं। इसमें 1970 के अधीन श्रम विभाग द्वारा जारी लाइसेंस नंबर दिनांक के प्रमाण की प्रति लाने, टेन नंबर और पीएफ, ईएसआई, सफाई कार्य के बाद कचरा परिवहन के लिए फर्म के खुद के ट्रैक्टर की रजिस्ट्रेशन की प्रतिलिपि, दो वर्ष का अनुभव सर्टिफिकेट के साथ अन्य शर्ते अपनी मर्जी से टेंडर कॉपी में छपवा दीं। जबकि अन्य जगह कॉपी में ये शर्तें हैं ही नहीं। ठेकेदार रवींद्र कुमार, कपिल सांदड़, गिरधारीसिंह सांखला, प्रवीण कुमार, सुल्तानसिंह आदि का कहना है कि बीसीएमओ ने अपने परिचितों को टेंडर देने के लिए सरकारी गाइडलाइन ही बदल दी है। उन्होंने बताया कि इसमें सरकार की ओर से केवल तीन शर्तें ही दी गई थी, लेकिन अफसरों ने कॉपी में और शर्तें जोड़ दीं, ताकि इसमें अधिकतर ठेकेदार आवेदन ही नहीं करें। कई ठेकेदार इसे लेकर एकजुट हुए और बदली गई शर्तों की कॉपी लेकर स्वास्थ्य विभाग पहुंचे।  inside  पावटा जिला अस्पताल में मरीजों को परेशानी होने लगी तो बिना उद‌्घाटन किया चालू  कायलाना में नहीं किए सुरक्षा के उपाय, गेट पर अभी भी जड़ा है ताला  हर साल एक महीने तक चलने वाले मेले में भंडार 20 लाख रुपए की स्टेशनरी खरीद कर बेचता है। खास बात यह है कि मेले में स्टेशनरी की सप्लाई करने वाली फर्में खुद ही माल लाकर भंडार के नाम से बेचती हैं। बाद में भंडार मुनाफा काट कर उनको भुगतान कर देता है।  सैफ अली खान को लगी चोट, हॉस्पिटल में ...   पेज-3
 
 
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन