ई-पेपर
Home >> Jodhpur >> Dbstar Jodhpur
Change Your City
 
मई 2013 को शैलेंद्र सिंह राठौड़ ने अपने परिचित लादूराम के साथ एक टाटा मैजिक गाड़ी का सौदा इकरारनामे के साथ किया। लादूराम के गांव में रहने के कारण उसने शैलेंद्र से गाड़ी की किश्तें अपने रिश्तेदार भतीजे लालाराम को चुकाने के लिए कहा। छह महीने तक किश्तें लालाराम के पास जमा कराई, लेकिन लादूराम ने किश्तें मिलने से इंकार कर दिया। इस पर फरवरी 2014 में मामला पुलिस में पहुंचा। थाने में पहले पुलिस ने दोनों पार्टियों के बीच मध्यस्थता की। लेकिन जब बात नहीं बनी तो उसने लादूराम की शिकायत पर एक एफआईआर शैलेंद्र सिंह के खिलाफ दर्ज की। पुलिस ने गाड़ी की खरीद करने वाले शख्स के खिलाफ आरोप तय कर कोर्ट में चालान पेश कर दिया। कोर्ट ने पुलिस डायरी के अनुसार आदेश सुनाया कि चूंकि तफ्तीश के लिए वाहन और कागजात बरामद करना जरूरी है इसलिए आरोपी जमानत खारिज की जाती है। जबकि हकीकत में वाहन लंब समय से थाने में ही पड़ा है।  इस समय 90 किलो का होकर भी मैं फिट हूं   पेज} 4
 
 
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन