Home >> Rajasthan >> Jodhpur >> Dbstar Jodhpur
Change Your City
 
डिस्कॉम सीवीसी के एक्सईएन ने डिस्कॉम थाने में एक रिपोर्ट 1 जनवरी 2016 अब्दुल करीम निवासी ननेऊ के खिलाफ बिजली चोरी की दी। यह रिपोर्ट 18 जनवरी 2016 को दर्ज की गई और केस डायरी में उसका इंद्राज किया गया, लेकिन जांच शुरू नहीं की गई। डिस्कॉम ग्रामीण थाने ने अब्दुल करीम को 14 जनवरी 2016 को नोटिस भेज दिया। इसमें प्रकरण संख्या 58, 13 जनवरी 2016 को उसके खिलाफ दर्ज किया गया। नोटिस मिलने के बाद अब्दुल अपनी जमानत करवाने के लिए कोर्ट में गया। कोर्ट ने प्रकरण से जुड़े सारे कागज मंगवाए तो पता चला कि अब्दुल को जो नोटिस डिस्कॉम थाने ने दिया है वह किसी दूसरे की एफआईआर का है। अब्दुल करीम को दिए नोटिस की एफआईआर के बारे में पता किया तो मालूम हुआ कि 17 जनवरी 2016 को चंपालाल टाक के खिलाफ दर्ज की गई थी। अब्दुल के खिलाफ प्रथम सूचना रिपोर्ट 18 जनवरी को दर्ज की गई, लेकिन प्रथम सूचना रिपोर्ट के बिना ही उसे नोटिस भेज दिया गया। इस पर कोर्ट ने डिस्कॉम ग्रामीण थाने से जवाब मांगा, लेकिन थाने की ओर से हैड कांस्टेबल चैनाराम कोर्ट में संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए।  उम्मेद उद्यान बना जुआरियों का अड्डा क्रिकेट मैदान, घूमने रहे बुजुर्ग परेशान  जांच कमेटी गठित नर्सिंग अधीक्षक से स्पष्टीकरण मांगा  एमजीएच पार्किंग में पिकअप सब्जी के ठेले रखने पर ठेकेदार को नोटिस  घंटाघर में ठेला धारकों पर नगर निगम ने भी शुरू की निगरानी  एक्सईएन को चार्जशीट की तैयारी, बड़े अफसरों के खिलाफ जांच नहीं  साथी की घटना याद रही इसलिए गाड़ी को भगा ले गए   रेलवेमें सर्विस करने वाले रामरतन चौपासनी हाउसिंग बोर्ड सेक्टर 21 में रहते हंै। हर रोज वे अपने चारपहिया वाहन से दल्ले खां की चक्की से होकर मेडिकल कॉलेज सड़क से होते हुए डीआरएम ऑफिस तक आते हंै। पंद्रह दिन पहले वे दल्ले खां की चक्की से मेडिकल कॉलेज सड़क की तरफ टर्न लेकर आगे बढ़े ही थे कि इनके पीछे एक मोटरसाइकिल हो ली। आगे बढ़कर गाड़ी रोकने का इशारा किया। उन्होंने गाड़ी धीरे की और देखा कि दो युवक गाड़ी के दोनों तरफ खड़े हो गए और बाहर आने का इशारा करने लगे। उनके पीछे एक युवक टांग पकड़ कर लड़खड़ाता हुआ धीरे-धीरे चल रहा था। उन्होंने पूछा तो बोले कि आपने पीछे चौराहे पर टक्कर मार दी है और इस युवक के लगी है। लेकिन वे कार से बाहर नहीं आए और कार आगे बढ़ाकर भगा ली। दो दिन पहले फिर उनके साथ यही घटना हुई। इस बार ये युवक डीएमआर ऑफिस तक पीछे गए। इस बार गाड़ियां उनकी कार के आगे खड़ी कर दीं और कहा कि अापने पीछे टक्कर मार दी है, इससे यह युवक घायल हो गया है। इतने में एक युवक टांग को पकड़कर लड़खड़ाता हुआ सड़क के दूसरी ओर जाकर बैठ गया। वे समझ चुके थे कि ये लोग वही हैं, जिन्होंने कुछ दिन पहले एक व्यक्ति को लूटा था। उन्होंने कहा कि आगे गाड़ी रोकता हूं, फिर बात करता हूं। ऐसा बहाना बनाकर उन्होंने गाड़ी को भगा लिया और ऑफिस के पास जाकर रोक ली। फिर कुछ सहकर्मियों को लेकर वापस उसी जगह पहुंचे, लेकिन वे भाग चुके थे।  कैंप में प्रतिभागियों ने एंजॉय के साथ सीखे गुर...   पेज-2
 
 
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन