Home >> Punjab >> Ludhiana
    • Set as Default
    कैप्टन का बादल दांव, बोले यह मेरा आखिरी चुनाव  कंप्लेंट पर पहुंचने में देरी की तो जीपीएस से पकड़े जाएंगे फ्लाइंग स्क्वायड  बीजेपी मेरे खून में, कैसे छोड़ सकता हूं : गोसाईं  नेता के दौरे के कारण क्रिकेट नहीं खेल पाए  कांग्रेस का होशियारपुर में जट्ट सिख कैंडिडेट नहीं  स्निफर डॉग की मदद से 58 किलो भुक्की बरामद  अश्वनी के मुकाबले में छोटा भाई इंद्र सेखड़ी  मान के काफिले की गाड़ी से स्कूटर सवार जख्मी, आधे घंटे तक मदद नहीं  शिअद से वाया कांग्रेस आप में पहुंचे संधू को लोकसभा की टिकट  भास्कर टीम | जालंधर/चंडीगढ़/नई दिल्ली   सिद्धूकांग्रेसी हो ही गए। लेकिन, कैप्टन अमरिंदर की गैरमौजूदगी में। राहुल गांधी ने उन्हें दिल्ली में ऑफििशयली जॉइन कराया, औपचारिक तौर पर सोमवार को पंजाब कांग्रेस प्रभारी आशा कुमारी कराएंगी। सोमवार को भी कैप्टन दिल्ली में मौजूद नहीं रहेंगे। आशा ने बताया कि कैप्टन पंजाब में बहुत बिजी हैं।   राहुल ने सिद्धू की एंट्री की जानकारी ट्विटर पर दी। उसके बाद सिद्धू का भी ट्वीट गया-फ्रंट फुट पर नई पारी की शुरुआत..पंजाब, पंजाबियत हर पंजाबी जीतना चाहिए। छह महीने पहले भाजपा छोड़ते समय उन्होंने कहा था कि भाजपा उन्हें शो पीस बनाकर रख रही है। उन्हें पंजाब से बाहर रहने को कहा जा रहा है। शो पीस बनाने के आरोप आम आदमी पार्टी पर भी लगाए, जब आप में जाने की घोषणा की। लेकिन, इन छह महीनों में वे पंजाब आए तक नहीं। 19 दिन बाद वोटिंग है और 18 जनवरी तक नॉमिनेशन, इसलिए सिद्धू का अब आना तय है।   सिद्धू को कांग्रेस में लाने के लिए गांधी परिवार को उनके साथ 7 बैठकें करनी पड़ी। राहुल से चार, प्रियंका से दो और सोनिया से मीटिंगों के बाद सिद्धू कांग्रेस के हाथ आए।  20 दिन तक हुई श्री हिंदू तख्त संस्था के अमित की रेकी, हमलावरों के कनेक्शन आतंकियों से  गिद्दड़बाहा में कांग्रेसी सरपंच का 200 लोगों के साथ चौकी पर हमला  शिअद, आप, कांग्रेस भाजपा में 20 से ज्यादा नए बिजनेसमैन