ई-पेपर
Home >> Magazine >> Rasrang
Change Magazine
 
कभी मिला था इंकार   2012   में इस पार्क काे भगत सिंह चौक का नाम दिया गया था।  कट्टरपंथियों के विरोध के चलते लाहौर हाईकोर्ट ने इस पर स्टे लगा दिया था। आज एक बार फिर शहीदी दिवस के मौके पर इस चौक के नाम को लेकर सोशल मीडिया में जमकर ट्रेडिंग और मैसेज हो रहे हैं।  दुनियाभर   में लगभग 30 करोड़ लोग जंगल में रहते हैं और उनमें से 6 करोड़ लोग सिर्फ और सिर्फ जंगली उत्पादों पर ही िनर्भर हैं।  वनों के बेतरतीब इस्तेमाल के कारण हम पिछले 50 वर्षों में पूरी दुिनया के आधे से ज्यादा जंगल खो चुके हैं।  कल विश्व वानिकी िदवस और आज िवश्व जल दिवस के दिन सिर्फ वृक्ष और पानी के संरक्षण की चिंता करने से कतई बात नहीं बनेगी। पूरे वर्षभर और अनेक वर्षों तक रोज, दिन-रात हमें सजग होकर जंगलों और पानी के स्रोतों की रक्षा करनी होगी और गांठ बांधनी होगी िक वन है तो हम हैं, जल है तो हम हैं, वरना कुछ नहीं है।
 
 
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन