Home >> Maharashtra >> Nagpur
    • Set as Default
    आठ साल से न्यूजीलैंड के प्रधानमंत्री थे जॉन की, कहा- मेरी इस नौकरी से मेरे प्रियजनों को बेवजह बलिदान देना पड़ रहा है   तमिलनाडु की सीएम जयललिता नहीं रहीं   14 राज्य | 69 संस्करण  <img src=images/bulletblack.png<img src=images/p1.png> 14 लोगों को बचाया गया   ब्यूरो | मुंबई.   मुंबई के डॉकयार्ड पर सोमवार को युद्धपोत ‘आईएनएस बेतवाको मरम्मत के बाद समंदर में उतारा जा रहा था कि तभी वह फिसल गया। इस पर सवार बचाए गए 14 लोगों को हल्की चोटें आई हैं। जबकि लापता दो लोगों के शव बरामद हुए हैं। दोनों की पहचान मेकैनिकल इंजीनियर आशुतोष पांडे और नीरज राय के रूप में हुई है। 3850 टन का यह जहाज नौसेना के डॉकयार्ड पर मरम्मत के लिए लाया गया था। नौसेना के प्रवक्ता कैप्टन डीके शर्मा ने बताया कि दुर्घटना दोपहर 1.30 बजे तब हुई जब पोत को गोदी से बाहर निकाला जा रहा था। शायद गोदी के ब्लॉक तंत्र में गड़बड़ी आ गई थी। इसकी जांच की जा रही है। 126 मीटर लंबा और 3850 टन भारी पोत गोदी से बाहर निकालते वक्त एक तरफ झुकता चला गया। ऐसा पहले कभी नहीं हुआ है। युद्धपोत बेतवा, पश्चिमी नौसेना कमांड के अहम युद्धपोतों में से एक है। यह उरान एंटी-शिप मिसाइल, बराक 1 और टारपीडो व अन्य अत्याधुनिक हथियारों से लैस था। यह युद्धपोत वर्ष 2004 में नौसेना में शामिल किया गया था। इसका नाम बेतवा नदी पर रखा गया है।      सुविचार   सफलता हमेशा नहीं मिलती। विफलता को लगातार लगे रहने से दूर कर सकते हैं। विंस्टन चर्चिल