Home >> Maharashtra >> Nagpur
    • Set as Default
    अभी यह है नियम   जिस अपराध की सजा मौत नहीं है, ऐसे मामलों के आरोपी अगर अपराध के लिए निर्धारित सजा की आधी अवधि जेल में गुजार चुका है तो उसे जमानत दी जा सकती है। इसमें आगे कोई विभाजन नहीं है। राष्ट्रीय अपराध रिकाॅर्ड ब्यूरो के अनुसार देश की जेलों में बंद दो तिहाई कैदी विचाराधीन ही हैं।  महिलाओं को इनकम टैक्स में छूट देगी मोदी सरकार   राज्य विधानमंडल में भी जीएसटी पारित   कंपनियों के 50,000 करोड़ रुपए फंसेंगे  बीमारी के उपचार व बच्चों की मृत्यु दर कम करने केंद्र ने दी मंजूरी