Home >> Delhi
Change Your City
 

Go to Page << Previous1234567...1516Next >>

 
 
 
निर्भया फंड केवल जुबानी जमाखर्च, केंद्र और सभी राज्याें को नोटिस  दो साल पूरे होने पर सहारनपुर रैली में पीएम नरेंद्र मोदी की बड़ी घोषणा  दूसरे इतालवी नौसैनिक को भी शर्तों के साथ इटली जाने की इजाजत  न्यूज ब्रीफ  अदालती रोक हटवाने का पूरा प्रयास किया जाएगा : सीएम  दुष्कर्म पीड़ितों को मुआवजे की राष्ट्रीय नीति बनाएं : सुप्रीम कोर्ट  दिल्ली का मौसम  कांगो में भारतीयों पर हमला गोली लगने से दो लोग घायल  हरियाणा में जाट आरक्षण पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक  ट्रेन में टिकट कन्फर्म नहीं , तो एयर इंडिया कराएगी हवाई सफर  स्पाइसजेट के टॉयलेट में मिला 1 किलो सोना, अखबार में रखा था  बिहार में मांझी के काफिले पर हमला, चार वाहनों को फूंका  महंगे हवाई किराए पर रोक लगाने नई प्रणाली आएगी  वैष्णोदेवी में दर्शन,आरती फीस पर बोर्ड को नोटिस  65 साल में रिटायर होंगे डॉक्टर  ये सिर्फ झोपड़ी नहीं, नक्सलियों से 15 साल के बच्चे का बदला है...  सुप्रीम कोर्ट ने लगाई ये चार शर्तें  पवन कुमार सेठी | गुड़गांव   इम्तिहानकी घड़ी चाहे मैदान में हो या बाहर खिलाड़ी आसानी से हार नहीं मानते। प्रैक्टिस के दौरान गर्दन के बल गिरने से नेक बोन फ्रैक्चर के कारण जब जिंदगी और कॅरिअर दांव पर लग गया तो ऐसी ही हिम्मत दिखाई है 19 साल के जिम्नास्ट सचिन ने। पिता गुड़गांव नगर निगम में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी हैं और मामूली आय पर 5 सदस्यों का परिवार निर्भर। चोट, आर्थिक तंगी और तमाम विपरीत परिस्थिितयों से लड़कर सचिन दोबारा खेल के मैदान में गए हैं। लक्ष्य है नेशनल चैंपियनशिप में मेडल जीतना फिर दुनिया का सर्वश्रेष्ठ जिम्नास्ट बनना। सचिनके जज्बे की कहानी, पढ़िए उन्हीं की जुबानी...  12 लाख रुपए का मोबाइल ‘रोबोहोन  क्रेडिट,डेबिट कार्ड से टिकट खरीदने पर शुल्क में छूट  दिल में क्लॉट हटाने की सस्ती दवा का ट्रॉयल शुरू  पाकिस्तान में पति पीट सकेगा पत्नी को  लखनऊ की नेहा देश में निफ्ट टॉपर  सुविचार   हमेंनिराशा, जो सीमित होती है उसे स्वीकारना चाहिए। लेकिन असीमित आशा को कभी नहीं खोना चाहिए।   मार्टिनलूथर किंग,जूनियर
 
 
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन