Change Your City
 

Go to Page << Previous1234567...1112Next >>

 
 
 
दंगों का दोषी हूं तो चौराहे पर फांसी दे दो   गुजरात दंगों की दुनिया के सबसे बेहतर प्रणाली से जांच करानी चाहिए और अगर मुझे जरा भी दोषी पाया जाए तो सीधे फांसी होनी चाहिए। वो भी चौराहे पर। इसमें माफी मांगने का सवाल ही नहीं उठना चाहिए। मैं दंगों पर बहुत कुछ कह चुका हूं। कोर्ट से लेकर जनता की अदालत तक में बरी हो चुका हूं। (एक समाचार एजेंसी से बातचीत में)  शिअद की मान्यता को लेकर आयोग को नोटिस  ‘भाग मिल्खा भाग बेस्ट पॉपुलर फिल्म  कनाडा की एंबेसी में अब जा सकेंगे किरपाणधारी सिख  ‘श्रीनिवासन पर आंख नहीं मूंद सकते
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन