ई-पेपर
Change Your City
 

Go to Page << Previous1234567...1718Next >>

 
 
 
नई दिल्ली | डॉ.कलाम मंगलवार को लौट आए। उसी दिल्ली में जहां से एक दिन पहले शिलांग के लिए चले थे। लेकिन इस बार अगवानी के लिए पूरा देश खड़ा था। नम आंखों और कांपती आवाज के साथ। राष्ट्रपति हों या प्रधानमंत्री, किसी ने कोई कायदा-कानून नहीं देखा। दौड़े पहुंचे एयरपोर्ट। अंतिम दर्शन जो करने थे। फिर तो तांता लग गया। सड़क से घर तक बहुत से लोग मिलने आते रहे। आखिर बुधवार को उन्हें अपने गांव जो जाना है। सदा के लिए। उसी रामेश्वरम में जहां जन्मे, बड़े हुए और देश को बड़ा बनाया। लोग कलाम से मिलने आते रहेंगे। अपने सपने खोजने या उसके सच साबित होने पर उन्हें धन्यवाद कहने...   {कलसुबह 11 बजे तमिलनाडु के रामेश्वरम में अंतिम संस्कार  कुल पृष्ठ 18+8=26 |मूूल्य~ 3.50 ( मधुरिमा सहित)
 
 
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन