Home >> Haryana >> Rohtak Bhaskar >> Rohtak
Change Your City
 

Go to Page << Previous1234567...1516Next >>

 
 
 
न्यूज ब्रीफ  लखनऊ की नेहा देश में निफ्ट टॉपर  पाक में पत्नी को पीटने का हक मांगा  कोई बहू-बेटी की इज्जत पर हाथ डाले तो उसकी जान लेने का अधिकार  अब 65 साल होगी सरकारी डॉक्टर्स की रिटायरमेंट की उम्र  एक ही गांव के युवक-युवती के शव पेड़ पर लटके मिले  पानीपत लोकल ट्रेन जैसा तीसरा धमाका अब रोडवेज बस में; 8 घायल, प्रदेश में अलर्ट  वैष्णो देवी में दर्शन, आरती फीस पर बोर्ड को नोटिस  पवन कुमार सेठी | गुड़गांव   इम्तिहानकी घड़ी चाहे मैदान में हो या बाहर खिलाड़ी आसानी से हार नहीं मानते। प्रैक्टिस के दौरान गर्दन के बल गिरने से नेक बोन फ्रैक्चर के कारण जब जिंदगी और कॅरिअर दांव पर लग गया तो ऐसी ही हिम्मत दिखाई है 19 साल के जिम्नास्ट सचिन ने। पिता गुड़गांव नगर निगम में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी हैं और मामूली आय पर 5 सदस्यों का परिवार निर्भर। चोट, आर्थिक तंगी और तमाम विपरीत परिस्थिितयों से लड़कर सचिन दोबारा खेल के मैदान में गए हैं। लक्ष्य है नेशनल चैंपियनशिप में मेडल जीतना फिर दुनिया का सर्वश्रेष्ठ जिम्नास्ट बनना। सचिनके जज्बे की कहानी, पढ़िए उन्हीं की जुबानी...  प्रेग्नेंसी की यादों को कुछ यूं भी संजो लें...  क्रेडिट, डेबिट कार्ड से टिकट खरीदने पर शुल्क में छूट  अधिसूचना के 13 दिन बाद ही जाट आरक्षण पर हाईकोर्ट का अंतरिम स्टे
 
 
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन