Change Your City
 
ञ्चएलिजाबेथ डायस     अधिकतर   आध्यात्मिक गुरू ज्ञान के प्रकाश की खोज में पूरा जीवन बिता देते हैं। लेकिन, अमेरिका के उत्तर ज्यार्जिया की बारबरा ब्राउन टेलर लोगों से कहती हैं कि वे केवल रोशनी की तलाश न करें बल्कि अंधेरे का भी सामना करें। 62 वर्षीय टेलर की गिनती अमेरिका के प्रमुख धर्म प्रचारकों में होती है। वे पिछले चार वर्ष से अंधेरी गुफाओं में घूमती हैं। नेत्रहीन के समान रहती हैं। रात में बाहर जरूर निकलती हैं। वे कहती हैं, अंधकार में प्रकाश की तुलना में अधिक सबक छिपे हैं। कई बार अंधेरे के शून्य में ईश्वर सबसे नजदीक होता है।   टेलर प्रिंसटन, ड्यूक यूनिवर्सिटी और नेशनल कैथेड्रल वाशिंगटन में अक्सर भाषण देती हैं। न्यूयॉर्क के चाउटाउक्वा इंस्टीट्यूशन में उन्हें रविवार को प्रवचन के लिए बुलाया जाता है। वे 13 किताबें लिख चुकी हैं। टेलर की नई पुस्तक-लर्निंग टू वाक इन द डार्क- इस धार्मिक विश्वास को चुनौती देती है कि अंधेरा डराता है, शैतान है और खराब है। वे कहती हैं, ईसामसीह का पुनर्जीवन अंधेरी गुफा में हुआ था। ईश्वर और अंधकार लंबे समय से मित्र हैं।   भगवान ने जिस समय घोषणा की कि उजाला होने दो तब से धर्मग्रंथों में प्रकाश को पवित्र बताया गया है और अंधेरे को नर्क की संज्ञा दी है। धर्मग्रंथों में कहा गया है, यदि आप अंधेरे में हैं तो ईश्वर के साथ नहीं हैं। लेकिन, टेलर का नजरिया दूसरा है। जिस तरह रोशनी के बगैर आस्था की कल्पना नहीं की जा सकती है, उसी तरह अंधकार के बिना विश्व की कल्पना असंभव है। वे कहती हैं, हम अंधेरे से मुंह मोड़कर ऊंची कीमत चुका रहे हैं। हमारी आंखें दिन भर स्क्रीन पर लगी रहती हैं। रात में बिजली का प्रकाश हमारी नींद में खलल डालता है। अंधेरे से बचने की बजाय हमें उसे स्वीकार करना चाहिए। वह हमारी कई परेशानियों का इलाज कर सकता है।   टेलर इसाई धर्मशास्त्रों के एक पुराने विचार को पुनर्जीवित कर रही हैं। यह है, अंधकार में दैविक रहस्य छिपा है। वे अपनी किताब में लिखती हैं, मैंने अंधेरे में ऐसी बातें सीखी हैं, जो मैं रोशनी में नहीं सीख सकती थी। उन बातों ने मेरी जिंदगी कई बार बचाई है। मुझे प्रकाश के समान अंधेरे की भी जरूरत है। मानव का ईश्वर से नजदीकी सामना अंधेरे में ही हुआ है। ईश्वर ने अब्राहम से रात में मुलाकात की थी। ईश्वर ने सिनाई की पहाड़ी पर अंधेरे में मोजेज को टेन कमांडमेंट्स सौंपे थे। ईसा का जन्म एक सितारे के नीचे हुआ था। वे पूछती हैं, अगर हम अंधेरे से बचने की कोशिश करते हैं तो क्या ऐसा नहीं है कि हम भगवान से दूर भाग रहे हैं?   विश्व के अधिकतर प्रमुख धर्मों में ईश्वर को अंधेरे में खोजने का जिक्र है। गौतम बुद्ध ने गुफा में ध्यान किया था। मुहम्मद साहब को मक्का के बाहर एक गुफा में कुरान मिली थी। संत फ्रांसिस ने असिसी के निकट एक छोटी खोह में प्रार्थना की थी। टेलर का यकीन है, अंधेरा ईश्वर को जानने के लिए हर किसी को आमंत्रित कर रहा है। वह हमारी कमजोरियों को दूर कर सकता है। हमारी जीवन यात्रा को बेहतर बना सकता है। टेलर को आशा है, उनकी यात्रा दूसरे लोगों को उनके रास्ते पर आने की प्रेरणा देगी।  ञ्चएलेक्जेंड्रा सिफेरलिन     चीन   सहित कई देशों में सदियों से जड़ी बूटियों से बीमारियों का इलाज किया जाता है। लेकिन, अमेरिका में यह थैरेपी प्रचलित नहीं है। फार्मास्युटिकल को आसान इलाज माना जाता है। अब स्थिति में बदलाव आ रहा है। जनवरी में क्लीवलैंड क्लीनिक ने चीनी हर्बल थैरेपी वार्ड खोला है। पिछले तीन माह में क्लीनिक के डाक्टरों ने शरीर दर्द, थकान, पेट की गड़बड़ी, कमजोर प्रजनन क्षमता, और नींद से जुड़ी समस्याओं के इलाज में जड़ी बूटियों का उपयोग किया है। क्लीनिक के मेडिकल डायरेक्टर डेनियल नीड्स कहते हैं, पश्चिमी पद्धति में हर मर्ज का इलाज नहीं है।   एमडी पास डॉक्टर की निगरानी में एक हर्बल विशेषज्ञ यूनिट को चलाते हैं। क्लीनिक में उन मरीजों को देखा जाता है जिन्हें किसी डॉक्टर ने भेजा हो। किसी पश्चिमी अस्पताल से संबद्ध होने वाली यह पहली ऐसी यूनिट है। हर्बल विशेषज्ञ गेलिना रूफनेर ने बताया, हम मरीज के इलाज में प्राचीन ज्ञान का उपयोग करते हैं। क्लीवलैंड क्लीनिक एक कमरे में है। वहां आरामदेह तकिये, मोमबत्तियां और एक्यूपंक्चर जैसी विधियों के लिए गलीचे बिछे हैं। उन मरीजों का ही इलाज किया जाता है जो पश्चिमी दवाइयों से ठीक नहीं हो सके। रूफनेर का कहना है, गंभीर निमोनिया का इलाज पश्चिमी एंटीबायोटिक्स दवाइयों से तेजी से होता है। वे सस्ती भी पड़ती हैं। लेकिन, यदि किसी व्यक्ति में एंटीबायोटिक्स के प्रतिरोध की क्षमता है तो हम उसके प्रतिरोध तंत्र को मजबूत कर सकते हैं।   क्लीवलैंड क्लीनिक में सभी हर्बल फार्मूले आसानी से उपयोग किए जा सकते हैं। इसके विपरीत चीन में मरीजों को जड़ी बूटियों से खुद दवाई बनानी पड़ती है। अमेरिकी खाद्य एवं दवा प्रशासन (एफडीए) के तहत जड़ी बूटियों के नियमन का कोई प्रावधान नहीं है। इसलिए जड़ी बूटियों की सप्लाई के लिए फार्मेसी की खोज मुश्किल थी। काफी तलाश करने के बाद क्लीनिक ने ताईवान की कैसर फार्मास्युटिकल की सहायक फार्मेसी और चीनी जड़ी बूटियों से दवा बनाने वाली फार्मेसी मेसाचुसेट्स और कैलिफोर्निया में खोज ली हैं।   जड़ी बूटियों से निर्मित औषधियों और पश्चिमी दवाओं के बीच घालमेल खतरनाक और नुकसानदेह हो सकता है। इसलिए क्लीनिक में हर्बल विशेषज्ञों और पश्चिमी फिजीशियन को मरीज का इलेक्ट्रॉनिक रिकॉर्ड दिखाने का प्रावधान रखा है।  खारिज किया गया हर गलत प्रयास सफलता की तरफ बढ़ा एक कदम  समस्या को समझें गहराई से, फिर खोजें समाधान
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन