Change Your City
 

Go to Page << Previous1234567...1314Next >>

 
 
 
नई दिल्ली | अबआप भविष्य निधि (पीपीएफ) में सालाना 1.5 लाख रुपए तक निवेश कर सकते हैं। सरकार ने इस सिलसिले में अधिसूचना जारी कर दी है। इसी के साथ ही आयकर कानून की धारा 80सी के तहत निवेश की सीमा भी 1.5 लाख रुपए हो गई है। अभी तक यह सीमा एक लाख रुपए सालाना थी।   इंटरनेटसे जुड़ेगा हर विभाग - पेज 13       वित्तमंत्री अरुण जेटली ने बजट भाषण में इसमें 50,000 रुपए वृद्धि की घोषणा की थी।   पीपीएफ निवेश का बड़ा लोकप्रिय माध्यम है। हालांकि इसमें निवेश पर 15 साल का लॉक-इन होता है, लेकिन टैक्स छूट के कारण यह लंबी अवधि में निवेश का बढ़िया जरिया माना जाता है। यह निवेश ईईई श्रेणी में आता है। यानी निवेश के वक्त, ब्याज और पैसे निकालने तीनों पर टैक्स छूट। साल 2014-15 में पीपीएफ जमा पर 8.7 फीसदी ब्याज मिलेगा।   घरेलू बचत को बढ़ावा देने के लिए जेटली ने किसान विकास पत्र दोबारा शुरू करने की भी घोषणा की थी। इसके अलावा बीमा कवर वाले राष्ट्रीय बचत पत्र (एनएससी) जारी करने का ऐलान भी उन्होंने किया था। होमलोन के ब्याज भुगतान पर डिडक्शन की सीमा भी 1.5 लाख से बढ़ाकर दो लाख रुपए सालाना कर दी गई है।  कैबिनेट बैठक के दिन वकीलों का उदयपुर शहर बंद का आह्वान  मुख्यमंत्री आज छोटीसादड़ी में करेंगी जनसुनवाई  पाक की हर दलील भारत ने खारिज की  नियम तोड़ अरावली क्षेत्र में दे दी खनन की मंजूरी  मंदिर में मत्था टेकते हैं, मां-बहन कहते हैं, वे ही छेड़ते हैं : राहुल  राज्य } 17 स्टेशन
 
 
 
 
MATRIMONY
 
विज्ञापन